IFS Officer कैसे बने पूरी जानकारी – IFS Officer Kaise Bane? How To Become a IFS Officer

0

IFS Officer Kaise Bane? आप सभी भारतीय विदेश सेवा से परिचित होंगे. विदेश सेवा के लिए सरकार Foreign Service officer की नियुक्ति करती है. फॉरेन सर्विस ऑफिसर का पद केंद्र सरकार के अधीन होता है, इनका पद भारत के सर्वश्रेष्ठ पदों में से एक है. इनकी सैलरी अच्छी खासी होती है, इसके साथ ही इन्हें विदेश यात्रा करने का अवसर भी मिलता है. यह जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि IFS Officer Kaise Bane? आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होना चाहिए? फॉरेन सर्विस ऑफिसर की चयन प्रक्रिया क्या है?

IFS Officer Kaise Bane? IFS कैसे बने?

तो आज मैं आपसे इसी के बारे में बात करने जा रही हूँ कि IFS Officer Kaise Bane? आईएफएस का पद आईएएस ऑफिसर से बड़ा होता है. इनका चयन यूपीएससी के तहत आयोजित होने वाली सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से होती है. इसके लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन पास करना होगा, उसके बाद सिविल सर्विस एग्जाम क्लियर करना होगा.

यदि आप फॉरेन सर्विस ऑफिसर बनना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि IFS Officer ke Liye Qualification क्या होना चाहिए? IFS Officer ki Salary कितनी होनी चाहिए? तो आप यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़ें.

IFS ka Full Form Kya Hai? 

आईएफएस का फुल फॉर्म Indian Foreign Service होता है. हिंदी में इसे ‘भारतीय विदेश सेवा‘ के नाम से जाना जाता है.

IFS Kya Hota Hai?

भारतीय विदेश सेवा को आईएफएस के नाम से जाना जाता है. भारतीय विदेश मंत्रालय के कार्यों को सँभालने के लिए एक विशेष सेवा का निर्माण किया गया है, उसे इंडियन फॉरेन सर्विस (Indian Foreign Service) कहते हैं. भारतीय विदेश सेवा केंद्रीय सेवा का भाग है.

IFS Officer ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) पास होना चाहिए.
  • ग्रेजुएशन डिग्री अनिवार्य होती है.

IFS Officer ke Liye Yogyata 

  • उम्मीदवार भारत देश का नागरिक होना चाहिए.
  • अभ्यर्थी कम से कम ग्रेजुएशन पास होना चाहिए.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 32 वर्ष होना चाहिए.

IFS Officer Kaise Bane?

  • आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन पास करना होगा.
  • उसके बाद Indian Foreign Service के लिए आवेदन करना होगा.
  • संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) समय-समय पर फॉरेन सर्विस ऑफिसर की भर्ती के लिए सिविल सर्विस एग्जाम आयोजित करती है.
  • जब Civil Service Exam के लिए एप्लीकेशन फॉर्म निकलता है, उस समय Online Apply करना होगा.
  • आवेदन करने के बाद प्रारंभिक लिखित परीक्षा होता है
  • प्रारंभिक परीक्षा पास करने बाद मुख्य परीक्षा (Mains Exam) उत्तीर्ण करना होगा.
  • मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है.
  • इंटरव्यू क्लियर करने वाले अभ्यर्थियों का प्रशिक्षण होता है.
  • प्रशिक्षण (Training) के लिए लाल बहादुर शास्त्री, राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी मसूरी (LBSNAA) भेजा जाता है.
  • ट्रेनिंग पूरा होने ने बाद इंडियन फॉरेन सर्विस ऑफिसर पद के लिए नियुक्ति होती है.

IFS Officer ki Salary Kitni Hoti Hai? 

आईएफएस ऑफिसर की सैलरी 15,000 रूपये से 40,000 रूपये प्रतिमाह होता है. IFS Officer Kaise Bane? ये जानने के बाद आपके मन में सवाल होगा कि आईएफएस ऑफिसर कि सैलरी कितनी होती है? आईएफएस ऑफिसर की सैलरी अच्छी खासी होती है. वेतन के अलावे इन्हें अन्य सुविधाएँ मिलती है. जैसे, आवास भत्ता, महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, पेंशन आदि.

इसे भी पढ़ें:

IFS Officer ka Selection Process Kya Hai?

आईएफएस ऑफिसर का सिलेक्शन सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से होता है. यूपीएससी प्रतिवर्ष सिविल सर्विस एग्जाम का आयोजन करती है. संघ लोक सेवा आयोग Civil Service Exam को तीन चरणों में आयोजित करती है.

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam):

यह सिविल सर्विस एग्जाम का प्रथम चरण का परीक्षा होता है. इसमें कुल दो पेपर होते हैं जनरल स्टडीज और रीजनिंग के प्रश्न पूछे जाते हैं. सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam):

प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद मुख्य परीक्षा होता है. यह prelims एग्जाम से कठिन होता है. इसमें कुल 9 पेपर होते होते हैं. भाषा,सामान्य ज्ञान, जनरल स्टडी, भाषा और निबंध से प्रश्न पूछे जाते हैं. सभी पेपर में व्याख्यात्मक प्रश्न होते हैं. प्रश्नों का उत्तर वाक्यों में देना होता है. आईएएस मुख्य परीक्षा का सिलेबस से आईएफएस का सिलेबस कुछ अलग होता है. मुख्य परीक्षा के अंकों के आधार पर मेरिट बनता है.

साक्षात्कार (Interview):

यह आईएफएस का अंतिम चरण का परीक्षा होता है. प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इसमें आपको कुछ सवालों का जवाब देना होता है. साक्षात्कार के माध्यम से आपकी बुद्धि, तार्किक क्षमता की जाँच होती है. इंटरव्यू उत्तीर्ण करने के बाद मेरिट बनता है. मेरिट के आधार पर आईएफएस का चयन होता है. चयनित अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है.

IFS Officer Banne ke Liye Kya Kare?

तो, यही है IFS Officer ke Liye Qualification. हमें आशा है कि आपको यह आर्टिकल IFS Officer Kaise Bane? अच्छा लगा होगा. और अब आपको अच्छे से पता भी चल गया होगा कि IFS Officer ke Liye Yogyata क्या होना चाहिए. IFS Officer ki Salary Kitni Hoti Hai?

इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे comment कर जरुर बताएं.

नवीनतम अपडेट के लिए जुड़ें:-

»जॉइन टेलीग्राम»Facebook ग्रुप
»Twitter ग्रुप»Linkedin ग्रुप
»Top Sena Bharti»Tumblr ग्रुप

Tags: IFS Officer Kaise Bane? IFS कैसे बने? IFS Officer ke Liye Qualification IFS Officer ki Salary Kitni Hoti Hai? IFS Officer कैसे बने पूरी जानकारी How To Become a IFS Officer IFS Officer क्या है और कैसे बने? आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने

FAQ – आईएफएस ऑफिसर (IFS officer) कैसे बने?

Q1. IFS का क्या काम होता है?

Ans. आईएफएस ऑफिसर (IFS officer) किसी भी देश के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि यह वही ऑफिसर होते हैं जो कि दूसरे देशों में अपने देश को represent करती है। इनका काम होता है कि यह विदेशी सरकार और अपने देश की सरकार के बीच में समन्वय स्थापित करें ताकि दोनों देशों के बीच में व्यापारिक तथा सांस्कृतिक दोनों रिश्ते अच्छे रहें।

Q2. IFS की सैलरी कितनी होती है?

Ans. आईएफएस ऑफिसर (IFS Officer) को शुरुआत में 60 हजार से ढाई लाख रुपये तक सैलरी मिलती है. आईएफएस ऑफिसर्स की सैलरी कैटेगरी और रैंक के हिसाब से तय की जाती है. विदेश में पोस्टेड ऑफिसर्स की सैलरी ज्यादा होती है.

Q3. आई एफ एस ऑफिसर क्या होता है?

Ans. यदि हम आईएफएस अधिकारी (IFS officer) की बात करें, तो IFS ऑफिसर को हिंदी में भारतीय विदेश सेवा तथा इंग्लिश में Indian Foreign Service कहा जाता है. जिन्हें देश के विदेश मंत्रालय के कार्यों को संभालने हेतु विभाग बनाया गया है. IFS अधिकारी का पद सरकारी पद है.

Q4. IFS बनने के लिए इंग्लिश जरूरी है क्या?

Ans. आप को अंग्रेजी आना जरुरी है. भलेही आप आईएएस की परीक्षा अन्य भाषा मे दे सकते है. लेकी न आईएएस बनने के बाद आपको बहुत सारे व्यवहार अंग्रेजी भाषा मे ही करणे होते है इसलिये आप को अंग्रेजी आना अत्यंत आवश्यक है.

Q5. कैसे भारतीय विदेश सेवा के लिए तैयारी शुरू करने के लिए?

Ans. इसमें शैक्षणिक विषयों का ज्ञान, विदेश भाषा की शिक्षा, एक माह के लिये विदेश दूतावास में व्यापार की शिक्षा और राष्टंमण्डल के विदेश सेवा अधिकारी प्रशिक्षण केन्द्र में डेढ़ माह का प्रशिक्षण दिया जाता है। तत्पश्चात् ही इनकी किसी विदेश दूतावास में नियुक्ति होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here